मैकडॉनल्ड्स की सच्चाई जान लेंगे तो दोबारा वहां खाने नहीं जाएंगे !!

अगस्त 2, 2017
अमेरिकी फास्ट फूड कंपनी #मैकडोनाल्ड (McD ) के #पिज्जा, #क्रंचीबिट्स और #मैकफ्लरी के क्रीमी ओरियो टॉपिंग या फिर चॉकलेटी मैक स्वर्ल का नाम सुनते ही आपके मुंह में भी पानी आ जाता है। अगर आप इसके किचन को देख लें तो शायद आप कभी इन्हें नहीं खाएंगे। आपके ये फेवरेट #जंक फूड जिस मशीन में बनते हैं वो इतनी गंदी होती हैं कि इन्हें देखने के बाद आप यहां के खाने की तरफ देखेंगे भी नहीं। इन्हें बनाने वाली मशीनों को देखकर आप इन्हें खाने का ख्याल छोड़ देंगे।
macdonald-ki-sachhai-jaan-lenge-to-dobara-vahaan-khaane-nahi-jayenge
🚩कुछ लोग है जो मैकडॉनल्ड्स ( McD ) का ही खाना पसंद करते हैं।  आज भी उनके लिए पार्टी का मतलब मैकडॉनल्ड्स का बर्गर ही है। न जाने कितने लोग होंगे, जिन्हें मैकडॉनल्ड्स का खाना पसंद होगा। मगर #मैकडॉनल्ड्स का ये सच उन्हें परेशान कर सकता है। क्योंकि अगर वो इन तस्वीरों को देख लें तो शायद ही दोबारा मैकडॉनल्ड्स में जाकर खाना पसंद करें। आइसक्रीम के बारे में तो सोचेंगे भी नहीं।
🚩ट्विटर पर #‘निक’ नाम के एक शख्स ने #मैकडॉनल्ड्स के खाने की कुछ तस्वीरें शेयर की। जो वायरल हो गई हैं । निक #लुइसियाना में रहते हैं, जो साउथ ईस्टर्न यूएस का स्टेट है।
🚩निक ( nick ) ने जो तस्वीर शेयर की वो एक मेटल ट्रे है। निक का दावा है कि ये ट्रे मैकडॉनल्ड्स की आइसक्रीम मशीन में इस्तेमाल होती है और लिखा कि इस ट्रे में जो आपको काला-हरा सा मेल दिखाई दे रहा है, ये कायी है जो आइसक्रीम मशीन से निकली है ।
🚩#आइसक्रीम मशीन से निकली इस #गंदगी की तस्वीरें निक ने ट्विटर पर शेयर की है । जिसके बाद उसे 14 हजार से भी ज्यादा रिट्वीट कर दिया गया।
🚩#टविटर पर इस #तस्वीर ने लोगों का सिर चकरा दिया है।
 🚩एक यूजर ने लिखा है कि ऐसा तो हर फास्ट फूड में होता है, हर वर्कर को ऐसे #पर्दाफाश करना चाहिए।
🚩डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक निक का कहना है कि उन्हें मैकडॉनल्ड्स से निकाल दिया गया है ।
🚩आपको बता दें कि #मैकडॉनल्ड्स को #10 देशों में #प्रतिबंधित लगा दिया है।
🚩अगर आप McD का कोक, फ्राइज, बर्गर खाते हो तो उसको हजम करने के लिए कम से कम 7 घण्टे सैर करना जरूरी है नहीं तो हजम नहीं होता है इतना भारी होता है ।
🚩आपको बता दें कि मार्च 2017 में कलकत्ता ब्रांच #McD के खाने में #मरी हुई #छिपकली मिली थी । कोलकाता की रहने वाली #प्रियंका मित्रा का आरोप है कि जब उन्होंने इसकी शिकायत मैनेजर से की तो उसने इस पर ध्यान नहीं दिया। सॉरी बोलकर वहां से चला गया। प्रियंका 6 महीने की प्रेग्नेंट हैं। उनकी शिकायत पर पुलिस ने  केस दर्ज कर लिया है ।
🚩तो बात ऐसी है, अगर आप मैकडॉनल्ड्स खाने-पीने जा रहे हैं तो अपनी नजरें दौड़ाएं रखें, ताकि गंदगी आपके पेट में न चली जाए । पता चले कि गए थे खुशी मनाने और घर आकर बीमार पड़ गए।
🚩ग्वालियर में डीडी मॉल #मैकडॉनल्ड रेस्टोरेंट के बारे में #मनीषा कुलश्रेष्ठ ने अपने #फेसबुक पर एक पोस्ट लिखी उसमें वे अपने परिवार के साथ मैकडॉनल्ड में गई । बाहर कुछ गरीब बच्चे बैठे थे तो उनको अंदर बुलाकर खिला दिया लेकिन उसके बाद मैनेजर के कहने पर उनको गार्ड ने बाहर नही निकलने दिया और  हम पर रौब चलाने लगा कि इन बच्चियों को बाहर बर्गर दे दो, भीतर क्यों बुलाया। ये बच्चियां बदमाश हैं, पत्थर फेंकती हैं, भीतर आती हैं । गालियां देती हैं।  लेकिन वहां खड़े कॉलेज के लड़के बोले, हम रोज आते हैं हमने इन बच्चियों को कभी पत्थर फेंकते, गाली देते नहीं सुना।
🚩बाद में पुलिस बुलाने पर उनको घर जाने दिया लेकिन
#मैकडॉनल्ड की ऐसी #शर्मनाक #हरकत गरीब भारतवासियों पर की गई वो अत्यंत #निंदनीय है ।
🚩अगर आप भी #मैकडोनाल्ड के आदी है तो अपने में #सुधार लाइये ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
Attachments area

सत्य की जीत : डीजी वंजारा निर्दोष बरी, जेल में बीता हुआ समय कौन लौटा पायेगा?

अगस्त 1, 2017
🚩गुजरात
राज्य के बहुचर्चित 2005 में #सोहराबुद्दीन एनकाउंटर मामले में मुम्बई
सीबीआई की विशेष अदालत ने गुजरात पुलिस के पूर्व #DIG डीजी वंजारा और IPS
#दिनेश एमएन को आरोपों से बरी कर दिया है। दोनों अधिकारियों पर फर्जी
एनकाउंटर का आरोप था। उन्हें कई साल जेल में बिताने पड़े थे।
The-victory-of-truth-DG-Vanzara-acquitted-innocent
🚩डिस्चार्ज एप्लीकेशन पर बहस के बाद कोर्ट ने सबूतों के अभाव में दोनों को आरोपों से मुक्त कर दिया।
🚩#दिनेश
एमएन वर्तमान में राजस्थान एसओजी में आईजी के पद पर तैनात हैं। 2005 में
हुए #सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर मामले में सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में
बताया था कि यह कोई एनकाउंटर नहीं बल्कि सोची-समझी #साजिश के तहत
कॉन्ट्रैक्ट मर्डर था।
🚩गुजरात
पुलिस ने दावा किया था कि उसका आतंकवादी संगठन लश्कर से संबंध था।  इस
मामले में अप्रैल, 2007 में आरोपी बनाए गए गुजरात के पूर्व डीआईजी #डीजी
वंजारा और #दिनेश एमएन के अलावा #राजकुमार पंडियन को #गिरफ्तार किया गया
था। बाद में अदालत ने लंबी सुनवाई के बाद पंडियन को रिहा कर दिया था। #2014
में वंजारा जी को भी #जमानत मिल गई थी
🚩सोहराबुद्दीन
केस में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष #अमित शाह समेत कई दूसरे नेताओं को
भी आरोपी बनाया गया था। इन सभी को पहले ही बरी किया जा चुका है।
🚩बरी
किए जाने के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में वंजारा जी ने कहा,’हमने अदालत
में आरोपमुक्त किए जाने के संबंध में आवेदन दिया था और हम दोनों को बेकसूर
घोषित किया गया है। हो सकता है कि भारतीय न्याय व्यवस्था धीरे काम करती हो,
पर वह न्याय देती है।’
🚩आपको
बता दें कि तत्कालीन #कांग्रेस सरकार ने #इंटरनेट तक #हिन्दुत्व को बदनाम
करने के लिए कई हिन्दू #साधु-संतों और #हिन्दुत्वनिष्ठों को #झूठे केस
बनाकर जेल में भेजा था और #मीडिया द्वारा खूब बदनामी करवाई थी ।
🚩डीजी वंजारा निर्दोष तो बरी हो गये लेकिन उनको #8 साल से अधिक समय तक जेल में रखा गया, वो उनका कीमती समय क्या कानून लौटा पायेगा ???
🚩मीडिया
ने भी उस समय खूब बदनामी की लेकिन जैसे ही उनको निर्दोष बरी किया गया तब
मीडिया ने चुप्पी साध ली । जब भी कोई #हिंदुत्वनिष्ठ पर #आरोप लगता है तो
#मीडिया उनकी समाज में इतनी #बदनामी करती है कि जैसे वो आरोपी नहीं अपराधी
हो । पर जब वही निर्दोष छूट कर आते हैं तो मीडिया को मानो सांप सूंघ जाता
है।
🚩विचार कीजिये, क्या सिर्फ #हिन्दुत्वनिष्ठों को #बदनाम करने का #मीडिया का #एजेंडा है..???
🚩कछुवा छाप चलने वाली हमारी #न्याय प्रणाली भी मीडिया के प्रभाव में आकर #हिन्दुत्वनिष्ठों को न्याय नही दे पाती है ।
🚩और
न्याय मिल भी जाता है तो इतना देरी से मिलता है कि न्याय नही मिलने के ही
बराबर हो जाता है । क्या #देरी से #न्याय मिलना #अन्याय नहीं है ???
🚩गौरतलब
है कि अब शंकराचार्य अमृतानन्द, #कर्नल पुरोहित, #बापू #आसारामजी, #श्री
#नारायण साईं, #धनंजय देसाई आदि को फंसाने के पीछे कई सबूत मिल चुके हैं।
लेकिन उनको भी अभीतक जमानत मिल नही पाई है ।
🚩क्या उनको इसलिये जेल में रखा गया है कि वो कट्टर हिंदुत्ववादी हैं..???
🚩उन्होंने लाखों हिंदुओं की #घरवापसी करवाई है ।
🚩विदेशी प्रोडक्ट पर रोक लगाई है ।
🚩#विदेशी ताकतों ने #मीडिया से सांठ-गांठ कर #हिन्दू संतों को #बदनाम करवाया । जिसका असर न्यायपालिका के फैसलों पर भी पड़ा ।
🚩अतः विदेशी फंड से चलने वाली मीडिया से भारतीय सावधान रहें ।
🚩अब देखना ये है कि #हिन्दुत्वादी कहलाने वाली #सरकार #कब इन #हिन्दू #संतों को भी #न्याय दिलवाती है..???
🚩कांग्रेस
सरकार ने तो षडयंत्र करके हिन्दू सन्तों एवं हिन्दुत्वनिष्ठों को जेल भेज
दिया था पर अब हिंदुत्ववादी कहलाने वाली #BJP सरकार कैसे हिंदुओं के
माप-दण्ड पर खरी उतरती है , ये देखना है ।
🚩कब निर्दोष संतों की जल्द से जल्द सह-सम्मान रिहाई करवाती है उसी पर सभी हिंदुओं की निगाहें टिकी है ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

राम मंदिर नही बनेगा और संतों की रिहाई नही होगी तो अब मोदीजी को हिन्दू वोट नही देंगे: हिन्दू महासभा

जुलाई 31, 2017
🚩दिल्ली : #हिन्दू संगठनों द्वारा रविवार को #जंतर मंतर पर बड़ा विशाल #धरना प्रदर्शन हुआ । #अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष #श्री चन्द्र प्रकाश कौशिक जी और अखिल भारत हिन्दू महासभा के जनरल सेक्रेटरी #मुन्ना कुमार शर्मा जी मुख्य अतिथि रहे ।
🚩#चन्द्र प्रकाश कौशिक जी ने #हिन्दू राष्ट्र के लिये कई मुद्दे उठाए उसमें मुख्य रूप से #राम मंदिर नही बनाने पर और #4 साल से #बिना सबूत #जेल में बन्द हिन्दू संत #आसारामजी बापू को रिहा नही करने पर प्रधानमंत्री पर नाराजगी जताते हुए कहा कि अगर आसारामजी बापू को रिहा नही किया और राम मंदिर नही बनाया तो अगली बार कोई भी हिन्दू मोदी जी को वोट नही देगा ।
🚩आइये जानते हैं क्या कहा चन्द्रप्रकाश कौशिक जी ने…
🚩उन्होंने कहा कि मोदी जी हमें आप पर पूर्ण विश्वास है हमने आपको प्रधानमंत्री पद दिया अब बारी आपकी है, आप हमें क्या देते हैं..??
🚩#राम मंदिर बनवाओगे?
#370 धारा कब खत्म करोगे?
#कांग्रेस के राज में हमारे #धर्मगुरुओं पर जो #अत्याचार हुए हैं झूठे केसों द्वारा,
वो #झूठे साबित कब करोगे..??
उसका इंतजार है हमें ।

akhil-bharat-hindu-maha-sabha-dharna-at-jantarmantar

 

🚩मोदीजी कृपया करके हिन्दू राष्ट्र को बचाइए पूरे के पूरे #100 करोड़ लोगों की #आशा आप पर है ।
🚩क्योंकि हम नहीं चाहते दोबारा से #भगत सिंह की तरह हमको बलिदान देने पड़े ।
कितने ही माँ के बेटे,बहनों के भाई फाँसी पर थे वो दिन दोबारा से नहीं आने चाहिये।
हमने अपना कार्य किया है और अब आपको अपना कार्य करना है ।
🚩ये कुर्सी, मैं मानता हूँ कि ये बहुत जिम्मेदारी वाली है, इस जिम्मेदारी से आपको जनता के बीच में आना है.. क्योंकि जनता के बीच में फिर से आपको वोट चाहिए, वोट तब मिलेंगे जब सारे संत बाहर आएंगे और धारा 370 ही खत्म होनी चाहिए एवं #राम मंदिर ही बनना चाहिए ।
🚩अगर राम मंदिर नहीं बना तो हम आपको वोट देने वाले नहीं हैं । कोई भी पत्रकार कोई भी मीडियावाला या आईबी वाला मेरी बात सुन रहा है तो कृपया करके मेरी बात मोदीजी तक पहुँचा दीजिए । इस बार तो सिर्फ आपको बहुमत मिला है पूरा हिंदुस्तान आपको वोट देने के लिए तैयार है सिर्फ आप थोड़ी सी हमारी हिम्मत बंधाइयें थोड़ी हमारी मजबूरी समझिये।
🚩कितने दिनों से #जंतर-मंतर पर संत आसारामजी बापू के चेले (शिष्य) बैठे हुए हैं इन पर गौर कीजिए ।
गौहत्या पर रोक लगाने की माँग रखने वाले #गोपालदासजी धरने में बैठे हुए है उन पर भी गौर कीजिए ।
ये सच्चे #हिंदुत्ववादी हैं ये #हिन्दू राष्ट्र के लिए मरते हैं ।
🚩न आसारामजी बापूजी को राजनीति चाहिए, न गोपालदास को राजनीति चाहिए । आपकी राजनीति आपको मुबारक लेकिन हमारा विश्वास आपको आगे प्रधानमंत्री बना सकता है लेकिन आपको कार्य करने होंगे !!
🚩आपको बात दें  कि #गोपालदासजी भी गौ हत्या पर मोदीजी द्वारा अभीतक कुछ नहीं करने पर जंतर-मंतर पर #धरना प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन #पुलिस ने #बर्बरता पूर्वक उनका पंडाल तोड़ दिया एवं गोपालदासजी को #गिरफ्तार कर लिया और सभी #भक्तों को बुरी तरह #पिटाई करके भगा दिया ।
🚩गौरतलब है कि 80 वर्षीय हिन्दू संत आसारामजी बापू 4 साल से बिना सबूत जोधपुर जेल में बंद हैं उनको अभीतक #जमानत तक #नही मिल पा रही है इसलिए
कल जंतर-मंतर पर विशाल धरना हुआ था उसमें हजारों की तादाद में उनके भक्त आये थे और कई #हिन्दू संगठनों ने भाग लिया था ।
🚩अब देखते हैं कि #हिन्दूवादी सरकार इन हिन्दुओं की आवाज सुनकर कोई #कार्यवाही करती है या उनका ओर उग्र #आंदोलन होता है..??
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

इस्लाम धर्म कबूलने की धमकी देने वाले शिक्षामित्र वो कर पाएंगे जो इस्लाम के मानने वाले करते हैं ?

जुलाई 30, 2017 
🚩तीन दिन से एक वीडियो #वायरल हो रहा है । इसमें कुछ शिक्षामित्र अपनी समस्या का समाधान न होने पर इस्लाम कबूलने की बात कर रहे हैं । इस वीडियो में कुछ शिक्षामित्र #सुप्रीम कोर्ट के फैसले से नाराज नजर आ रहे हैं । सर्वोच्च अदालत के फैसले के बाद, जब एक तरह से मुहर लग गई कि उनकी नौकरियां जाएंगी, तो उन्होंने आखिरी हथियार के तौर पर ये स्टंट रचा है ।
एक व्यक्ति कह रहा है कि हम अल्लाहु अकबर बोलेंगे । बिलकुल जेहाद पर आ जाएंगे । हमें नहीं रहना ऐसे धर्म में, जहां हमारे बच्चे भूखे मरे ।”
Add caption
🚩जो ऐसी बातें कर रहे हैं वो जरा विचारे…
 🚩क्या #इस्लाम कबूलने से इन लोगों की #नौकरियां बहाल हो जाएंगी..???
 🚩वो जो बच्चे भूखे होने की दुहाई दे रहे हैं क्या उनकी थालियों में रोटियां आ जाएगी..???
🚩क्या मौलवी साहब कलमा पढ़ाने के बाद, हर महीने हर एक के घर सैलरी वाला लिफाफा पहुंचा आएंगे..???
🚩या किसी बड़े #इस्लामिक ट्रस्ट से वजीफा बंधेगा शिक्षामित्रों का..???
 🚩क्या सऊदी अरब नोटों की बारिश करवा देगा इन पर..???
🚩 आखिर क्या होगा इस्लाम कबूलने से…???
🚩 कोर्ट ने अपने फैसले में कहा था कि शिक्षामित्र पढ़ाने की योग्यता नहीं रखते । योग्य बनने का मौका भी दे दिया गया है ।  इसके बावजूद ऐसे सस्ते स्टंट करेंगे शिक्षामित्र, तो सिवाय जगहंसाई के कुछ पल्ले नहीं पड़ने वाला ।
🚩हासिल क्या है आखिर इस मूर्खता से..??
🚩एक बात ये भी है कि उन 7 हजार लोगों में क्या सभी हिंदू हैं..??
जो पहले से इस्लाम में हैं वो क्या स्टेप लेंगे..??
ईसाई बन जाएंगे..??
या घरवापसी करा लेंगे..??
🚩इस्लाम अपनाने की धमकी देने वाले शिक्षा मित्रों से एक हिन्दू के चंद सवाल …
🚩इस्लाम कबूल करने वाली धमकी इसलिए कि हिंदुत्ववादी सरकार है और उसके लिए हिन्दुत्व एक मुद्दा है ।
🚩पर इस्लाम अपनाने के बाद वे वो कर पाएंगे जो इस्लाम के मानने वाले करते हैं ?
🚩अपनी चचेरी, ममेरी, फुफेरी बहन से लेकर हर उस लड़की से शादी करने की हिम्मत जुटा पाएंगे जो उनकी सगी बहन न हो ?
🚩जो आज तक हिन्दू रहते सोचना भी पाप था..
तलाक देने के कंडीसन में अपनी बीवी को दूसरे मर्द के बिस्तर पर भेजोगे “हलाला” के नाम पर ?
🚩जिसके घूँघट न रखने पर भी तुम्हे कल तक गुस्सा आता था ?
🚩अल्लाहु अकबर कहके … जान लेने और जान देने की हिम्मत जुटा पाओगे..??
🚩जबकि #हिन्दू धर्म में अब तक #सर्वधर्म #समभाव का ज्ञान पा रहे थे ?
बकरीद में #गाय #काटने की #जिद्द कर पाओगे..???
🚩जिसे अबतक पूजते थे निवाला देते थे …उस गाय को काट पाओगे…???
🚩जिस कुरान की खिल्लियां उड़ाते थे…. क्या उसी पर अमल कर पाओगे..???
🚩कल तक तुम्हारे लिए सब भाई थे ।  इस्लाम #कबूलने के बाद सब #हिंदुओं को अपना काफिर और #दुश्मन मान पाओगे..???
🚩मुस्लिम धर्म अपनाने वाले आपकी लड़कियां यह कर पायेगी..???
🚩– क्या गाय का #मांस खा पायेगी ?
🚩– क्या 10-15 बच्चे पैदा कर पायेगी?
🚩– क्या अपने जीवन में 4-5 और #सौतन रखना चाहेगी ?
🚩– क्या अपने आप को काले #बुर्के में कैद रखना पसंद करेगी?
🚩– क्या शादी के बाद #मंदिर जा सकेगी ?
🚩– क्या शादी के 5 महीने बाद तलाक के बाद अकेली रह पायेगी ?
🚩– क्या शादी के बाद मांग में सिंदूर माथे पर बिंदी लगा सकेगी ?
🚩क्या मुस्लिम धर्म अपनाने से उनको कत्ल करने का अल्लाह का फरमान अमल में लाओगे..???
🚩कर्मजलो , नामुरादों ,
अगर यह सब कर सकते हो
तो तुम इस्लाम कबूल ही कर लो ।
नही चाहिए तुम्हारे जैसे ….
जो एक नोकरी के लिए धर्म, समाज, रिश्तेदार छोड़ने को तैयार हैं ।
🚩तुम्हारे जैसे नीच सोच वाले अरजाल बन के इस्लाम में भी लतखोर बनने के ही लायक हैं ।
🚩कल के बदले आज ही बदल जाओ…
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

पाकिस्तान में भारतीय कैदियों के साथ क्या होता है, रोंगटे खड़े कर देने वाली बात सामने आई

जुलाई 29,2017
🚩भारत में जब कोई #आतंकवादी हमला करता है और कइयों की जान ले लेता है और करोड़ो का #नुकसान करता है । उसके बाद जब वह पकड़ा जाता है तो सालों तक कोर्ट में केस चलता है और उसे रखने में बढ़िया-बढ़िया भोजन से लेकर सभी वी.आई.पी सुविधायें दी जाती हैं लेकिन वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान में कोई #निर्दोष गलती से फंस जाये तो उसकी भी इतनी बुरी हालत होती है कि नर्क से भी बत्तर जीना पड़ता है ।
pakistan jail
🚩पाकिस्तान की #मलीर लांघी जेल में 15 अक्टूबर 2015 से तीन आदमी बंद थे।  #जयचंद, #रवि शंकर और #संजय ।
🚩आओ पहले इनकी दुख भरी कहानी पढ़े…
🚩ये तीनों दिहाड़ी मजदूर हैं । #कानपुर से 50 किलोमीटर दूर, घाटमपुर के #मोहम्मदपुर गांव के निवासी हैं । वहां से मजदूरों की ठेकेदारी करने वाला एक आदमी इनको लेकर गुजरात गया मछली पकड़ने के लिए । वहां जाखुआ पॉइंट पर ये मछली पकड़ रहे थे,तभी तेजी वाली लहर आई और #27 मछुआरे पाकिस्तान की तरफ बह गए । पाकिस्तान की #नेवी ने पहले तो इन पर धांय-धांय गोली चलाई,फिर अरेस्ट करके #जेल में डाल दिया ।
🚩हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक इनके शुरुआती दिन बड़ी मुसीबत में गुजरे । इनके साथ जो पाकिस्तानी कैदी रहते थे, वो दिन में तीन बार सेल की सफाई कराते थे ।अपनी चड्डी-बनियान तक धुलवाते थे । और वहां के गार्ड खड़े-खड़े तमाशा देखते थे और परेशान करने को उकसाते थे । क्योंकि इन्हें टॉर्चर होते देखना उनके कलेजे को ठंडक देता था ।
🚩खाने में मिलती थी केमिकल वाली रोटी
🚩#जयचंद बताते हैं कि इनको मैदे वाले पतली, एकदम महीन रोटियां मिलती थी पूरे दिन में पांच । एक दिन ध्यान से देखा तो उन पर सफेद सा पाउडर लगा था । ये कोई केमिकल था । हमने उसी दिन से रोटी खाना छोड़ दिया । वेजीटेरियन कैदियों को ये सहूलियत दी गई थी कि वो अपना खाना खुद बनाए । लेकिन शर्त थी कि सब्जियां खुद खरीदनी पड़ेंगी । तो इन लोगों ने 14 महीने सब्जी पर गुजारा किया बिना रोटी खाएं । वो भी कभी कभी पाकिस्तानी कैदी छीन लेते थे और इनको भूखे सोना पड़ता था ।
🚩जयचंद कहते हैं कि जेल तो जेल है लेकिन पाकिस्तान की जेल में जीना सबसे मुश्किल है । खासतौर से तब जब आप इंडियन हो । वहां के कैदी और गार्ड #भारतीय कैदियों के #खिलाफ एक हो जाते हैं ।
🚩पिछले साल दिसंबर में पाकिस्तान ने #220 मछुआरों को छोड़ने का फैसला किया था,तो ये लोग जनवरी में अपने गांव लौट पाए थे ।
🚩यशपाल से कुछ भी पूछो, जवाब आता है ‘पाकिस्तान’
🚩फिजिकली और मेंटली उस सीमा तक टॉर्चर किया गया है #यशपाल को कि उन्हें बराबर बरेली के मेंटल हॉस्पिटल जाना पड़ रहा है । जो उनके साथ पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में हुआ है, उसके बाद नॉर्मल होने के लिए महीनों लग जाते हैं।  जब ये पाकिस्तान से छूटकर आए थे तो इनको सिर्फ तीन शब्द याद थे  दिल्ली, पाकिस्तान और इंडिया ।
🚩बरेली से 40 किलोमीटर दूर पड़ेरा गांव है । वहां के हैं यशवंत । मई 2013 में कोट #लखपत जेल में तीन साल काटकर रिहा हुए । ये वही महीना था और वही जेल थी, जब #सरबजीत को कैदियों ने हमला करके मार डाला था ।
 🚩यशवंत बताते हैं कि कोट लखपत जेल भारतीय कैदियों के लिए भयानक टॉर्चर वाली कालकोठरी है । तकलीफ सिर्फ वही समझ सकता है जो वहां फंस चुका हो । #इंडियन कैदियों की हालत तो और #बदतर होती है । वहां उनको 2×2 फुट के कमरों में रहने को मजबूर किया जाता है । जो पूरी तरह से लाइट और साउंड प्रूफ होते हैं । एक मिनट आंख बंद करके ऐसा सोचने पर भी रूह कांप जाती है । टॉर्चर के बहुत से तरीके हैं उनके पास । बेहोश होने तक डंडे से पीटना,नाक से पानी भरना, बिजली के झटके देना ।
🚩इसके अलावा ऐसा माहौल बनाया जाता है कि भारतीय कैदी मानसिक रूप से हर उम्मीद छोड़ देता है ।
यशपाल के पिता #बाबूराम बताते हैं कि यशपाल 2008 में घर छोड़कर दिल्ली गया रोजगार की तलाश में।
2009 में उसने वापस चिट्ठी भेजनी बंद कर दी । फिर उसका कुछ पता नहीं लगा । ये भी पता नहीं था कि वो पाकिस्तान में फंस गया है ।
🚩 2012 में पाकिस्तान के एक आदमी #मोहम्मद यूसुफ भट्ट की चिट्ठी आई, तब घर वालों को हालत पता चली । फिर #प्रोफेसर प्रदीप कुमार ने इनकी पूरी हेल्प की, यशपाल को वापस घर लाने में । ये बरेली में #जगर सोसाइटी नाम से एक #NGO चलाते हैं । प्रदीप ने ही यहां से पाकिस्तान तक अथॉरिटीज से बात करके रिहाई का जुगाड़ कराया ।
🚩ये दो केस हैं, जो बताते हैं कि पाकिस्तान की जेलों में फंसने के बाद हमारे देश के नागरिकों का क्या हाल होता है । ये कोई क्रिमिनल नहीं हैं । इंसानी गलती की वजह से वो लकीर पार कर गए, जिसके एक तरफ जिंदगी है दूसरी तरफ मौत की साजिश । ये कोई जासूस नहीं हैं, फौजी नहीं हैं।  फिर भी इनके साथ ऐसा सुलूक होता है । कुलभूषण जाधव को बिना पक्के सुबूतों के फांसी की सजा सुना दी जाती है और हमारे यहां साजिद मुनीर जैसे पाकिस्तानी जासूस को #भोपाल पुलिस 10 महीने से सरकारी #मेहमान बनाने को #मजबूर है क्योंकि पाकिस्तान उसे वापस ले जाने को तैयार नहीं  (लेखक :आशुतोष )
🚩पाकिस्तान में हिन्दुओं का भी बुरा हाल है, नाबालिक लड़कियो को जबरदस्ती उठाकर ले जाते हैं,बलात्कार करते है, जबरन शादी कर लेते है, अंतिम क्रिया स्मशान घाट में नही करने देते हैं,मंदिर तोड़ दिए जाते हैं वहां का कानून और सरकार हिन्दुओं का सुनने को तैयार ही नही है । लेकिन भारत में #सेकुलर लोग #आतंकवादी को# बचाने के लिये आधी रात को  #कोर्ट खुलवाते हैं , कोर्ट भी आधी रात को खुल जाती है लेकिन #कश्मीर पंडितों के #नरसंहार को सुनने को मना कर देती है ।
🚩जब तक हिन्दुओं में एकता नही आएगी तब तक देश-विदेश में हिंदुओं का शोषण होता ही रहेगा । जब हिन्दू एक हो जायेगे और किसी एक भी #हिन्दू पर #अत्याचार होने पर सभी हिन्दू #एक साथ खड़े होगें तभी हिन्दू #सुरक्षित रह पायेंगे ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ

अगर आप सफर के दौरान ट्रेन में खाना खाते हैं तो इस रिर्पोट को पढ़कर हो जाइये सावधान

जुलाई 28,2017
🚩नियंत्रक
एवं महालेखा परीक्षक (CAG) ने रेलवे द्वारा परोसे जाने वाले खाने को लेकर
संसद में जो रिपोर्ट पेश की है उसके बारे में जानकर आप भी सोचने को मजबूर
हो जायेंगे । #सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि रेलवे का खाना
इंसानों के खाने लायक नहीं है ।
beware-before-eating-during-journey-in-Railway
🚩जब
भी रेल बजट संसद में पढ़ा जाता है और हम रेल मंत्री जी को रेल बजट पढ़ते
हुए देखते हैं, तो लगता है कि बढ़ता भारत और बदलती रेल व्यवस्था है, लेकिन
जब आप रेल में सफर करते हैं, तो लगता है कि सब बातें हवा हवाई हैं ।
🚩बदलाव
कुछ आया नहीं, वही गंदगी, वही खाना, वही रेल लाइनों की हालत तो सवाल उठता
है कि बदलाव क्या..?? बदलाव सिर्फ इतना कि सरकार ने रेल बजट को खत्म करके
उसे भी वित्त बजट में शामिल कर दिया है। अब मंत्री जी अलग से रेल बजट नहीं
पढ़ेंगे । ना ही हम रेल बजट पढ़ते रेल मंत्री जी को सुन पायेंगे। बस इतना ही
बदलाव।
🚩अब जरा इस रिर्पोट को देखिए…
🚩खुले कूड़ेदानों के बीच और गंदे पानी से बनता है ट्रेन में मिलने वाला खाना – CAG रिपोर्ट में खुलासा
🚩नियंत्रक
एवं महालेखा परीक्षक (CAG) ने रेलवे द्वारा परोसे जाने वाले खाने को लेकर
संसद में जो रिपोर्ट पेश की है उसके बारे में जानकर आप भी सोचने को मजबूर
हो जाएंगे। सीएजी ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि #रेलवे का #खाना
#इंसानों के खाने लायक नहीं है। 21 जुलाई को सीएजी ने यह रिपोर्ट संसद में
पेश की। रिपोर्ट में कहा गया है कि दूषित खाद्य पदार्थों, #रिसाइकिल किया
हुआ खाना और #डब्बा बंद व #बोतलबंद सामान का इस्तेमाल #एक्सपाइरी डेट के
बाद भी किया जाता है। सीएजी के मुताबिक खाना बनाने में साफ-सफाई पर बिलकुल
भी ध्यान नहीं दिया जाता ।
🚩#74
स्टेशनों और #80 ट्रेनों के निरीक्षण के बाद सीएजी ने पाया कि खाना तैयार
करने के दौरान सफाई पर ध्यान नहीं दिया जाता। खाना या फिर ड्रिंक्स तैयार
करने के लिए सीधे नल से अशुद्ध पानी का इस्तेमाल किया जाता है। निरीक्षण के
दौरान कूड़ेदानों के ढक्कन गायब पाए गए और यह भी पता चला कि उनकी धुलाई का
काम भी नियमित रूप से नहीं किया जाता। मक्खियां-कीड़ों से खाद्य पदार्थों
के बचाव के लिए कोई कवर इस्तेमाल नहीं किया जाता। वहीं कुछ ट्रेनों में
कॉकरोच और चूहे भी मिले। #सीएजी ने #ऑडिट में पाया है कि रेलवे की फूड
#पॉलिसी में लगातार बदलाव होने से यात्रियों को बहुत ज्यादा परेशानियां
होती हैं।
🚩भारत
में रेल एक जीवन रेखा की तरह है। #दो करोड़ से ज्‍यादा लोग किसी भी दिन
रेल पर सफर कर रहे होते हैं। बावजूद इसके ट्रेनों में #खान-पान को लेकर जो
#लापरवाही बरती जाती है, वह बेहद अहम किंतु आम तथ्‍य है। जिसे शायद हर
यात्री और रेलवे के हुक्‍मरान जानते हैं। यात्रियों के पास विकल्‍प नहीं
है, और रेलवे हुक्‍मरानों के पास #भ्रष्‍टाचार युक्‍त #व्‍यवस्‍था में
#पैसा कमाने का #आसान जरिया। ऐसे में कैग की ये रिपोर्ट कोई आमूलचूल
परिवर्तन ला देगी, ऐसी उम्‍मीद करना वैसा ही है जैसे कभी सभी ट्रेनों के
राइट टाइम पर चलने के बारे में सोचना। (लेखक : नीरज जोशी)
🚩आपको
बता दे कि दो दिन पहले पूर्वा एक्सप्रेस में एक यात्री ने ट्रेन की
#कैटरिंग से #खाना मंगवाया तो उसमें खाने के साथ #छिपकली पाई गई। यात्री ने
रेलवे मिनिस्टर को #ट्विटर पर #फोटो शेयर करते हुए कहा, ‘मोकमा में खाना
ऑर्डर किया था और मिला यह’। यात्री ने कैंटिन मैनेजर और टीटीई को भी इसके
बारे में शिकायत की और उसके बाद रेलवे मिनिस्टर को ट्विटर पर बताया।
🚩अब
सवाल उठता है कि क्या सरकार को जनता की बिलकुल ही फिक्र नही है? केवल वोट
लेते समय ही बड़े-बड़े वादे किए जाते हैं लेकिन जैसे ही सत्ता में आते हैं सब
वादों को भूल जाते हैं और जनता की हालत बद्दतर ही रहती है, जो इंसानों के
लायक खाना नही है वो परोसा जा रहा है फिर भी सरकार का उस पर ध्यान नही जा
रहा है यह एक बड़ी चिंता की बात है ।
🚩सरकार
तो जब बदलाव करेगी तब करेगी लेकिन जनता को भी इस बात का ध्यान रखना होगा
कि जब भी सफर में निकले तो घर से भोजन का इंतजाम करके ही निकले जिससे गन्दे
नाली वाले पानी का भोजन आपको न करना पड़े और सरकार को भी पता चले कि जनता
ने खाना छोड़ दिया तो तुरंत सुधार करवाये ।
🚩केवल
रेलवे का ही नही बल्कि कई बड़ी-बड़ी #होटलों, #रेस्टोरेंट आदि में भी
साफ-सफाई से नही बनाया जाता है, जो #खाद पदार्थ #हल्की क्वालिटी के होते
हैं, जो #स्वास्थ्य के लिये #हानिकारक होते हैं उन्हें ही उपयोग में लाया
जाता है । इसलिए हम सभी को अधिकतर बाहर के खाने से #बचना चाहिए ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

नार्को टेस्‍ट में खुलासा : भगवा आतंकवाद कांग्रेस का षडयंत्र था, विस्फोट पाकिस्‍तान ने करवाया था

जुलाई 27, 2017
🚩हिन्दुओं को बदनाम करने के लिये भगवा आतंकवाद नाम दिया था और उसके लिए #निर्दोष #हिन्दुत्वनिष्ठों को #फंसाया गया था लेकिन अभी एक के बाद एक का पर्दाफाश हो रहा है कि #कांग्रेस सरकार ने ही यह #षड्यंत्र रचा था, दूसरे समुदाय के वोट बैंक के लिये ये सब किया गया था बाकि भगवा आतंकवाद जैसा कुछ नहीं था ।
sonia smjhuata express
🚩आपको बता दें कि #समझौता एक्‍सप्रेस बम #विस्फोट के तार #पाकिस्‍तान से जुड़े हैं। प्रतिबंधित संगठन सिमी के पूर्व मुखिया सफदर नागौरी के नार्को टेस्‍ट में ये बात सामने आई है। नागौरी ने इस बम विस्फोट के लिए अब्‍दुल रज्‍जाक को जिम्‍मेदार ठहराया है। 8 फरवरी 2007 को हुए समझौता एक्‍सप्रेस बम विस्फोट में 68 लोगों की जान गई थी।
 🚩टाइम्‍स नाउ चैनल के पास नागौरी के नार्को टेस्‍ट का एक टेप है। इस टेप में नागौरी इस बात को कबूल कर रहा है कि समझौता एक्‍सप्रेस बमविस्फोट को जिन लोगों ने अंजाम दिया, उन्‍हें पाकिस्‍तान में प्रशिक्षण दिया गया था। नार्को टेस्ट के दौरान जब नागौरी से यह पूछा जाता है कि समझौता एक्सप्रेस में ब्लास्ट करने के लिए किसने कहा था ? नागौरी इस पर जवाब देता है, #‘अब्दुल रज्जाक, यह उसी का काम है। वो #इंदौर से है।’
🚩उसने आगे कहा कि, ‘रज्जाक ने मुझसे कहा था कि अब तुम राजनेता बन गए हो, इसलिए तुमसे कुछ नहीं हो पाएगा। अब तुम सिमी से रिटायर हो जाओ। तुम उनसे पैसे लेते हो, किंतु सारा पैसा खाने-पीने में बर्बाद कर देते हो। जिहाद तुम्हारे बस की बात नहीं है, अब मैं ही कुछ करुंगा।’
🚩नागौरी से जब पूछा गया कि रज्‍जाक पाकिस्‍तान में किसके संपर्क में है ? इस पर वह कहता है, ‘#रज्‍जाक के कुछ रिश्‍तेदार पाकिस्‍तान में हैं। इस सबको उसने खुद ही अंजाम दिया। वह #सिमी की इंदौर शाखा का मुखिया रह चुका है। विस्फोटक और हथियार शायद लश्कर-ए-तैयबा ने रज्‍जाक को उपलब्‍ध कराए होंगे। वह लश्‍कर के नसीर के संपर्क में था, जिससे उसने एक विदेशी पिस्‍टल और एके 47 के लिए कहा था। वह किसी को मारते समय रिस्‍क नहीं लेना चाहता था। हालांकि वह किसी एक शख्‍स को ही मारने की प्‍लानिंग कर रहा था। ‘
🚩नागौरी ने नार्को टेस्ट में यह भी कबूल किया कि वह #बाबरी मस्जिद गिराए जाने, #हाशिमपुरा की घटना, गुजरात और मुंबई के दंगों का बदला लेना चाहता था।
🚩आपको बता दें कि गृहमंत्रालय के गोपनीय दस्तावेज से बड़ा खुलासा हुआ है कि भगवा आतंकवाद का #लक्ष्य पूरा करने के लिए #कांग्रेस सरकार ने आतंकवादियों की जगह #हिन्दुत्वनिष्ठों को #जेल में डाल दिया ।
🚩समझौता_एक्सप्रेस #मालेगांव, अजमेर शरीफ #बम_ब्लास्ट के धमाकों के पीछे सिमी आतंकवादियों का हाथ था ।
🚩यहाँ तक कि #जाँच_एजेंसियों के पास उन आतंकवादियों के नाम भी थे लेकिन बाद में अचानक #कांग्रेस #सरकार ने #आतंकवादियों के नाम हटा दिए और आतंकवादियों की जगह हिन्दू संगठनों के नाम डालकर स्वामी असीमानंद, साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, शंकराचार्य जी अमृतानंद जी, #कर्नल_पुरोहित, शंकराचार्य अमृतानन्द  आदि को जेल में डाल दिया ।
🚩यहाँ तक बम ब्लास्ट के जो #गवाह थे उनको भी #कांग्रेस #सरकार ने स्वामी असीमानंद और अन्य के #खिलाफ #अदालत में #गवाही देने को #मजबूर किया था ।
🚩सोनिया गांधी ने #हिन्दू #संस्कृति नष्ट करने हेतु हिन्दुओं की बदनामी करवाने के लिए  “#भगवा_आतंकवाद” नाम दिया था ।
🚩जॉइंट इंटेलीजेंस कमेटी के पूर्व प्रमुख और पूर्व उपराष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डॉ. एस डी प्रधान ने भी  #मालेगांव और #समझौता एक्सप्रेस ब्लास्ट को लेकर कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं।
🚩प्रधान ने बताया कि पाकिस्तान ब्लास्ट होने वाला है वो हमें पहले ही पता चल गया था और हमने #गृह मंत्रालय में भी बता दिया था लेकिन #पी. चिंदबर ने राजनैतिक फायदे के लिए ब्लास्ट होने दिया और निर्दोष #साध्वी प्रज्ञा, #स्वामी असीमानंद आदि हिन्दू #साधु-संतों को फंसाने के लिए भगवा आतंकवाद नाम देकर उनको जेल भेज दिया था।
🚩गौरतलब है कि अब शंकराचार्य अमृतानन्द , #कर्नल पुरोहित, #बापू #आसारामजी, #श्री #नारायण साईं, #धनंजय देसाई आदि को फंसाने के पीछे कई सबूत मिल चुके हैं। लेकिन उनको भी अभीतक जमानत मिल नही पाई है ।
🚩क्या उनको इसलिये जेल में रखा गया है कि वो कट्टर हिंदुत्ववादी हैं..???
🚩उन्होंने लाखों हिंदुओं की #घरवापसी करवाई है ।
🚩विदेशी प्रोडक्ट पर रोक लगाई है ।
🚩विदेशी ताकतों ने मीडिया से सांठ-गांठ कर हिन्दू संतों को बदनाम करवाया । जिसका असर न्यायपालिका के फैसलों पर भी पड़ा ।
🚩कांग्रेस सरकार ने तो षडयंत्र करके हिन्दू सन्तों को जेल भेज दिया था पर अब हिंदुत्ववादी कहलाने वाली #BJP सरकार कैसे हिंदुओं के माप-दण्ड पर खरी उतरती है , ये देखना है ।
🚩कब #निर्दोष संतों की जल्द से जल्द सह-सम्मान रिहाई करवाती है उसी पर सभी हिंदुओं की निगाहें टिकी है ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

मोरारी बापू, रामदेव बाबा जो आसारामजी बापू का आशीर्वाद लेते थे आज उनके लिए मौन क्यों हैं ??? – महामंडलेश्वर चिदम्बरानन्द

जुलाई 26, 2017
Add caption
🚩मुंबई : महामंडलेश्वर पूज्य स्वामी #श्री चिदम्बरानन्द सरस्वती जी महाराज ने कहा कि #ईसाइयों के #धर्मातरण को #रोकने का काम हिन्दू संत #आसारामजी बापू ने बखूबी किया है। उनके सत्संग में लाखों लोग आने लगे, ऐसा होने से विरोधी लोगों को पसंद नहीं आया, हिंदुत्व का बढ़ता दायरा इन लोगों को खटका इसलिए #राजसत्ता मद में चूर लोगों ने #बापूजी के #खिलाफ #षड्यंत्र रचा ।
🚩एक ऐसा षड्यंत्र रचा गया कि जिन मामलों में संत आशारामजी बापू को लेना-देना ही नही था, वहां तक कोई सोच भी नहीं सकता, कल्पना ही नहीं कर सकता,उसमें फंसाया ।
🚩हमारा एक ही धर्म और कर्त्तव्य है कि निष्ठावान रहें । एक ही कर्त्तव्य है कि समर्पित होके जिस धारणा और भावना से या बापूजी से जुड़े थे उस धारणा और भावना के साथ एकजुट होकर साथ में खड़े रहें ।
🚩समय-समय की बात है । घटिया राजनीति का गहरा सूत्र है जो आगे बढ़े उसीका ही सिर काटो ।
🚩उस राजनीति में पता नहीं कितने लोगों को मैंने ऐसा देखा कि जिनकी मदद से आगे बढ़े उन्ही को हटाओ, संत आशारामजी बापू के साथ भी ऐसा ही हुआ है । #मोदी जी, #राजनाथ, #नितिन गिड़करी, #सुषमा स्वराज आदि कई नेता उनके आशीर्वाद लेने जाते थे आज उनका नाम तक नही लेते हैं ।
🚩#मुसलमान के खिलाफ कोई हरकत होती है तो #मीडिया कितना दिखाती है और आपने एक #अखलाक का नाम सुना होगा जो #गौ हत्यारा था । उस गौ हत्यारे की मौत होने पर उत्तरप्रदेश का एक मंत्री बोलता है कि हमें #UN में जाने की जरूरत पड़ेगी लेकिन हमारे इतने बड़े महात्मा संत आसारामजी बापू जेल में हैं पर हमारे महात्माओं को एक बार भी मन में नहीं आया । अरे UN इनके लिए मत जाओ कम से कम राष्ट्रपति तक तो जाओ ।
🚩कम से कम एक जगह तो संगठित होकर धरना दो कि भैया ये गलत हो रहा है । हम अकेले होकर बोल देंगे पर जहाँ संगठित होकर बोलने की बारी आएगी तो उनको लगता है कि उनको भी अंदर कर देंगे, यही नाटक करके जियेंगे तो जो मुकाबला करके सच्चाई सामने आनी चाहिए वह नही आयेगी ।
🚩शिष्य को आचार्य के लिए बोलना चाहिए, #मोरारी बापू जो आसारामजी बापू के पास जाकर #आशीर्वाद लेते थे और आज वो नाम तक नहीं लेते क्या ये पीड़ाजनक नहीं है?
🚩#मोरारी बापू, #रमेश भाई ओझा, #रामदेव बाबा प्रणाम करके संत आसारामजी बापू के आशीर्वाद लेते थे आज उनका नाम तक नहीं ले रहे । आज आप #धर्माचार्य की #गद्दी पर बैठने के बाद भी #मौन हैं तो सामान्य जनता का क्या दोष है ?
🚩वो बेचारी क्या करेगी ?
🚩बोलते हैं धार्मिक आस्था का विषय है कि वो कोर्ट में लड़ा जा रहा है तो क्या संत आशारामजी बापू के ऊपर उनके 8 करोड़ भक्तों की आस्था भारी नहीं लगती ?
🚩राजनीति के दल में ऐसा देखा गया है कि #कांग्रेस ने #हिन्दू धर्म के लिए कुछ नहीं किया, #विरोध में किया । #पॉप जो है उनके स्वागत के लिए कितना खर्चा उन्होंने किया और उनको भगवान की तरह प्रस्तुत करते हैं हमारा #मीडिया भी #वेटिकन को यहाँ ऐसे दिखा रहें हैं जैसे भगवान हों।
यहाँ की मीडिया को वेटिकन में बन रहे पॉप से क्या लेना -देना है ?
🚩कभी किसी #मीडिया ने दिखाया #शंकराचार्य कौन बन रहा है..???
🚩कभी किसी मीडिया ने दिखाया #महा-मंडलेश्वर कौन बन रहा है..???
🚩कभी किसी मीडिया ने देखने की कोशिश की कि महात्मा कैसे बनते है…???
कैसे जंगलों में जीवन निर्वाण करते हैं…???
कितनी तितिक्षाएं सहते हैं..???
🚩 लेकिन #वेटिकन सिटी में दीक्षा संस्कार कैसे होता है, उसका live प्रसारण दिखा रहे हैं..!!
🚩हद हो गई ! !
🚩 सब ओर पैसों का, गन्दी राजनीति का बोलबाला है ।
🚩मैं कहता हूँ कि अगर कोई दोषी है तो इसका निर्णय भी कानून करेगा न मीडिया करेगा ?
🚩कोई दोषी है उसका निर्णय न्यायालय करेगा या हम करेंगे ?
🚩अभी तक न्यायालय ने नहीं कहा संत आसारामजी बापू दोषी हैं, एक आतंकवादी के लिए कोर्ट कहता है कि कोर्ट ने इसे दोषी नहीं कहा इसलिए इसे आतंकवादी मत कहो लेकिन मीडिया ने संत आसारामजी बापूजी को दोषी कह दिया ।
🚩 क्या इसका विरोध नहीं करना चाहिए ?
क्या कोर्ट में इस विषय पर अपील करके विरोध नहीं करना चाहिए ?
बिना कोर्ट के निर्णय के मीडिया ने कैसे बलात्कारी साबित कर दिया ?
🚩गौरतलब है संत आशारामजी बापू 4 साल से #बिना सबूत #जोधपुर जेल में बंद हैं उनके खिलाफ अभीतक एक भी सबूत नही मिला है ।
🚩बड़े -बड़े नेता व धर्म की गद्दी पर बैठे #धर्मगुरुओं द्वारा इस अन्याय के विरुद्ध आवाज न उठाने पर महामंडलेश्वर #चिदम्बरानन्द जी ने उन्हें कड़ी फटकार लगाई है ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩

कश्मीरी पंडितों की मौत की जांच से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

जुलाई 25, 2017
उच्चतम न्यायालय ने कश्मीर में 27 वर्ष पहले हुए कश्मीरी पंडितों के नरसंहार की दोबारा जांच के निर्देश देने से इनकार कर दिया है । न्यायालय में दायर याचिका में वर्ष 1989  में 700 कश्मीरी पंडितों की हत्या के मामले में दर्ज केसों में से 215 मामलों की दोबारा जांच के आदेश देने की मांग की गई थी ।
kashmir genocide
मुख्य न्यायाधीश जे. एस. खेहर और न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़ की बेंच ने ‘रूट्स इन कश्मीर’ की याचिका खारिज करते हुए कहा कि, इतने वर्ष बाद सबूत जुटाना बेहद मुश्किल होगा । ‘रूट्स इन कश्मीर’ कश्मीरी विस्थापित पंडितों की संस्था है ।
इतना ही नहीं उच्चतम न्यायालय ने याचिकाकर्ता को फटकार भी लगाई । न्यायालय ने पूछा कि, आखिर पिछले 27 वर्ष से आप कहां थे ? हम अब इस मामले को नहीं सुन सकते । हमे ऐसा लगता है कि, आप ने ये मांग मीडिया की सुर्खियों में आने के लिए की है ।
न्यायालय के इस सवाल पर याचिकाकर्ता के वकील विकास पडोरा ने कहा ‘माई लॉर्ड हम तो अपनी जान की हिफाजत के लिए भागे-भागे फिर रहे थे । राज्य सरकार कहां थी ? केंद्र सरकार कहां थी ? इन सरकारों को आना चाहिए था । उन्होंने कहा कि, न्यायालय भी तो स्वतः संज्ञान ले सकती थी । बहुत से मामलों में न्यायालय ऐसा करती है। वकील ने न्यायालय में कहा, ”आप पूछते हैं कि, 27 वर्ष से आप कहां थे, हम नहीं सुन सकते । जब आप 1984  दंगा का केस सुन सकते हैं तो कश्मीरी पंडितों का क्यों नहीं ?”
हालांकि, याचिकाकर्ता के वकील पडोरा की तमाम दलीलों को दरकिनार करते हुए न्यायालय ने याचिका पर सुनवाई से साफ इंकार कर दिया ।
आपको बता दें कि 1990 में सारे कश्मीरी मुस्लिम सड़कों पर उतर आये थे । उन्होंने कश्मीरी पंडितो के घरो को जला दिया, कश्मीर पंडित महिलाओं का बलात्कार करके, फिर उनकी हत्या करके उनके नग्न शरीर को पेड़ पर लटका दिया था । कुछ महिलाओं को जिन्दा जला दिया गया और बाकियों को लोहे के गरम सलाखों से मार दिया गया । बच्चों को स्टील के तार से गला घोटकर मार दिया गया । कश्मीरी महिलाये ऊंचे मकानों की छतों से कूद कूद कर जान देने लगी और देखते ही देखते कश्मीर घाटी हिन्दू विहीन हो गई और कश्मीरी पंडित अपने ही देश में विस्थापित होकर दरदर की ठोकर खाने को मजबूर हो गए ।
3,50,000 कश्मीरी पंडित अपनी जान बचा कर कश्मीर से भाग गए । यह सब कुछ चलता रहा लेकिन सेकुलर मीडिया चुप रही । देश- विदेश के लेखक चुप रहे, भारत का संसद चुप रहा, सारे सेकुलर चुप रहे । किसी ने भी 3,50,000 कश्मीरी पंडितो के बारे में कुछ नहीं कहा । और अभी सुप्रीम कोर्ट ने भी  सुनवाई करने से इनकार कर दिया ।
हिन्दुस्तान का हिन्दू आखिर जाये तो जाये कहाँ..???
नेता अपनी सत्ता की खातिर सेकुलरों के तलवे चाटने में मग्न हैं और इसलिए हिन्दू उन्हें दिखाई ही नहीं देते । हिन्दुस्तान के मिलार्ड भी आँख पर हरा चश्मा पहन चुके हैं, ट्रिपल तलाक पर उन्हें मजहब की चिंता रहती है पर दही हांड़ी और जलीकट्टू इन्हें मात्र खेल लगता है ।
एक अखलाक की मौत तो इन्हें दर्दनाक लगती है पर 700 कश्मीरी पंडितों की ह्त्या पर इन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता ।
हिन्दुओं का दुर्भाग्य है कि वो सेकुलर हिन्दुस्तान के नागरिक हैं ।
जलीकट्टू हो या दही हांडी की ऊंचाई, मिलार्ड सुनवाई के लिए तत्पर रहते हैं, लेकिन राममंदिर मामले में ‘डे टू डे’ हियरिंग की याचिका मिलार्ड समय का अभाव बताकर खारिज कर देते हैं, वहीं ट्रिपल तलाक वाला मामला छुट्टियों में चलाने के लिए मिलार्ड राजी हो जाते हैं ।
राजनीति से तो हिन्दुओं की उम्मीद टूट चुकी थी अब मिलार्ड भी सेकुलर निकले ।
न्यायपालिका बनी अन्याय पालिका…!!!
1990 में मुसलमानों के गुंडों द्वारा मार काट करके भगा दिया जाने वाला मामला पुराना बताकर खारिज कर दिया लेकिन वही दूसरी ओर मिलार्ड 1528 में तोड़े गये राम मंदिर के सबूत कैसे ढूंढ रहे हैं..???
हिन्दुस्तान सेकुलर देश होने की वजह से हिन्दू हर तरह से लाचार है ।
हिंदुस्तान में सेकुलर राजनीति सेकुलर नेता, सेकुलर लोकतंत्र, सेकुलर संविधान, सेकुलर न्यायापालिका हिन्दुस्तान में हिन्दुओं को किसी से भी उम्मीद रखने की जरूरत नही है।
आतंकवादी याकूब को फाँसी रोकने के लिए रात को 12 बजे कोर्ट खुल सकती है लेकिन वहीं दूसरी ओर 27 साल पुराना केस खारिज कर दिया जाता है ।
बाबरी मस्जिद का ढांचा भी तोड़े 25 साल हो गये फिर भी क्यों उसका केस चल रहा है?
क्यों अभीतक राम मंदिर की परमिशन नही मिल रही है?
हिन्दुस्तान में हिंदुओं को सरकार, न्यायालय द्वारा इसलिए कोई सहायता या न्याय नही मिल रहा है क्योंकि हिंदुओं में एकता नही है, जिस दिन एकता हो जायेगी उस दिन हर जगह से न्याय मिलने लगेगा ।
अतः अब समय आ गया है हिंदुओं के एक होने का..!!

विश्वमें अबतक हुए युद्धोंमें जितना रक्तपात नहीं हुआ होगा जितना धर्म-परिवर्तन के कारण हुआ

धर्म-परिवर्तनकी समस्या अर्थात् हिंदुस्थान एवं हिंदु धर्मपर अनेक सदियोंसे परधर्मियोंद्वारा होनेवाला धार्मिक आक्रमण ! इतिहासमें अरबीयोंसे लेकर अंग्रेजोंतक अनेक विदेशियोंने हिंदुस्थानपर आक्रमण किए । साम्राज्य विस्तारके साथ ही स्वधर्मका प्रसार, यही इन सभी आक्रमणोंका सारांश था । आज भी इन विदेशियोंके वंशज यही ध्येय सामने रखकर हिंदुस्तानमें नियोजनबद्धरूपसे कार्यरत हैं ।
प्रस्तूत लेख द्वारा हम ‘धर्म-परिवर्तन’ के दुष्परिणाम समझ लेंगे ।
genocide for conversion
*सामाजिक दुष्परिणाम*
1 ‘धर्मांतरितोंके रहन-सहनमें विलक्षण परिवर्तन दिखाई देनेके कारण कंधमलमें (उडीसामें) ईसाई  बनी जनजातियां और वहांके परंपरागत समाजमें दूरियां बढ गई हैं ।’
2. नागभूमिमें (नागालैंडमें) ईसाइयोंके धार्मिक दिवस रविवारके दिन अन्य कार्यक्रम प्रतिबंधित हैं । उस दिन बसें भी बंद रहती हैं । कृषक अपने खेतोंमें रविवारको काम नहीं कर सकते । यदि वे करें, तो उन्हें 5 हजार रुपए दंड भरना पडता है एवं 25 कोडे खाने पडते हैं ।
3 . ‘मेघालय राज्यमें केंद्रशासनके नियमानुसार रविवारको छुट्टी रहती है । किंतु , इस विषयमें मेघालय शासनके ग्रामीण विकास विभागकी अप्पर सचिव श्रीमती एम्. मणीने एक लिखित उत्तरमें कहा, ‘हमारा राज्य ईसाई होनेके कारण रविवारको यहां सबकी छुट्टी रहती है ।’ ’
*सांस्कृतिक दुष्परिणाम*
1 ‘नागभूमिमें (नागालैंडमें) बाप्तिस्त मिशनरियोंने स्थानीय नाग लोगोंको ईसाई पंथकी दीक्षा देकर उनका नाग संस्कृतिसे संबंध तोडा । उनका लोकसंगीत, लोकनृत्य, लोककथा और धार्मिक परंपराओंका, दूसरे शब्दोंमें उनकी संस्कृतिका विनाश भी इन मिशनरियोंने किया । उन्होंने नाग लोगोंको पूर्णतः पश्चिमी मानसिकताके रंगमें रंग दिया ।’
2 . मिजोरममें, मिजो राजाके ढोल जैसा परंपरागत वाद्य बजानेपर वहांके ईसाई संगठनोंने प्रतिबंध लगा दिया है । वहांके ईसाइयोंने धमकी दी है, ‘यदि राजाने यह परंपरा जारी रखी, तो इसके परिणाम गंभीर होंगे’ ।
3. ‘धर्मांतरित हिंदु ‘हिंदुस्थान’को नहीं, अपितु ‘रोम’को पुण्यभूमि मान, हिंदुस्थानकी पवित्र नदियां, पर्वत, नागरिक, राष्ट्रभाषा, वेशभूषा और संस्कृतिका तिरस्कार करने लगे हैं ।’ – ईसाई स्वतंत्रता सेनानी राजकुमारी अमृत कौर
4. धर्म-परिवर्तनके कारण सांस्कृतिक जीवनसे संबंधित संकल्पना भी परिवर्तित होती है, यह नियम व्यक्तियोंपर ही नहीं, नगरोंपर भी लागू होता है । इस्लामी आक्रमणकारियोंने ‘औरंगाबाद’, ‘हैदराबाद’, ‘इलाहाबाद’, ‘फैजाबाद’ जैसे अनेक स्थानोंके हिंदुओंके साथ ही उन नगरोंके नामोंका भी इस्लामीकरण कर उनका सांस्कृतिक परिचय नष्ट कर दिया ।
*संस्कृति पूर्णतः नष्ट होना*
1. आग्निपूजक पारसी लोगोंके मूल स्थान ईरानमें इस्लामी आक्रमणकारियोंने उनपर अत्याचार कर उन्हें धर्म-परिवर्तनके लिए बाध्य किया तथा जिन्होंने ऐसा नहीं किया, उन्हें वहांसे भगा दिया । उन पारसियोंको हिंदुस्थानने आश्रय दिया । आज ईरानमें पारसी संस्कृतिका एक भी चिह्न शेष नहीं है ।
2. ईसाईकृत धर्मांतरणके कारण ही रोम और ग्रीक संस्कृतियां नष्ट हुर्इं ।
3. अमरीका, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका और रूसकी आदिवासी (मूल) संस्कृतियां नष्ट होना : ईसाई धर्मप्रचारकोंने अमरीका, ऑस्ट्रेलिया, अफ्रीका और रूसके करोडों भोले-भाले आदिवासियोंका धर्म-परिवर्तन कर उनके चरित्र, जीवन-शैली, जीवन-मूल्य एवं उनकी संस्कृति और संस्थाओंका सर्वनाश कर दिया ।
*राष्ट्रीय दुष्परिणाम*
1. ‘अनेक व्यक्ति, जिनका धर्म-परिवर्तन हो चुका है, अब वे मानसिकता राष्ट्रविरोधी हो गए हैं ।’ – ईसाई स्वतंत्रता सेनानी, राजकुमारी अमृत कौर
2. ‘आज मेघालय, मिजोरम, त्रिपुरा और मणिपुरका पर्वतीय भाग एवं अरुणाचल प्रदेशके कुछ भागोंमें धर्मांतरित जनजातियोंमें राष्ट्रविरोधी भावना तीव्र है ।’
धर्म-परिवर्तनसे राष्ट्र परिवर्तन
स्वातंत्र्यवीर सावरकरने अनेक वर्ष जनजाग्रति करते समय चेतावनी दी, ‘धर्म-परिवर्तन राष्ट्र परिवर्तन है ।’ उनकी यह चेतावनी कितनी अचूक थी, यह आगे दिए हुए सूत्रोंसे और स्पष्ट हो जाएगी ।
*नागालैंड*
‘हिंदुस्थान स्वतंत्र होनेके पश्चात् तुरंत ही ईसाई धर्ममें धर्मांतरित विद्रोहियोें ‘अंगामी जापो फीजो’ नामक ईसाईके नेतृत्वमें नाग विद्रोहियोंने भारतके विरुद्ध सशस्त्र विद्रोहकी घोषणा कर दी । ‘नागालैंड फॉर क्राईस्ट’, यह उनकी धर्मांध युद्धघोषणा थी । इन नाग विद्रोहियोंको शस्त्रोंकी और अन्य प्रकारकी सहायताका दुष्कर्म माइकल स्कॉट नामक ईसाई मिशनरीने किया । बौप्टस्ट मिशनरियोंके दबावमें आकर धर्मनिरपेक्ष शासनने इन फुटीर पृथकतावादियोंकी सर्व मांगें मान लीं और नागालैंड राज्यका निर्माण हुआ ।’
– श्री. विराग श्रीकृष्ण पाचपोर
४‘नागालैंडमें ‘Nagaland belongs to Jesus Christ ! Bloody Indian dogs get lost !’ !’ अर्थात् ‘नागालैंड ईसा मसीहकी भूमि है ।
मूर्ख भारतीय कुत्तों, यहांसे निकल जाओ !’ इस प्रकारकी घोषणाएं जगह-जगहपर लिखी हुई मिलती हैं ।’
‘स्वतंत्र ईसाई राज्य मिलनेके पश्चात् फुटीरतावादी ईसाइयोंने स्वतंत्र नागालैंड राष्ट्रकी मांग करनेके लिए देशके विरुद्ध सशस्त्र विद्रोहकी घोषणा की ।’
*कश्मीर*
हिंदुस्थानको स्वतंत्रता-प्रााप्तके पश्चात् कश्मीरमें बहुसंख्यक मुसलमानोंने कश्मीरके लिए पृथक संविधान एवं दंडविधान (कानून) बनानेका अधिकार प्राप्त कर लिया । कश्मीरके प्रथम मुख्यमंत्री शेख अब्दुल्लाका ध्येय था, ‘स्वतंत्र कश्मीर राष्ट्र’ । इसके लिए उन्होंने राष्ट्रविरोधी कृत्य कर पाकसे साठगांठ की । फलस्वरूप कश्मीरी मुसलमानोंमें फुटीरतावादी मानसिकता दृढ हुई । फुटीरतावादी ‘हुरियत कॉन्फ्रेंस’ संगठनने ‘आजाद कश्मीर’का प्रचार आरंभ किया । स्वतंत्र कश्मीर राष्ट्रकी स्थापना हेतु, ‘जम्मू कश्मीर मुक्त मोर्चा’ (जेकेएल्एफ्) आदि आतंकवादी संगठनोंका जन्म हुआ । इस कारण, आज वहां राष्ट्रीय त्यौहारोंके दिन राष्ट्रध्वज फहराना भी कठिन हो गया है ।
*धार्मिक दुष्परिणाम*
1. ‘हिंदु समाजका एक व्यक्ति मुसलमान अथवा ईसाई बनता है, तो इसका अर्थ इतना ही नहीं होता कि एक हिंदु घट गया; इसके विपरीत हिंदु समाजका एक शत्रु और बढ जाता है ।’ – स्वामी विवेकानंद
2. तमिलनाडु राज्यमें धर्मांतरित हिंदुओंद्वारा ईसाई बने मछुआरे समाजने स्वामी विवेकानंदका स्मारक बनानेका विरोध किया ।
3. कालडी (केरल) नामक आदिगुरु शंकराचार्यके इस गांवमें उनके नामसे अभ्यास केंद्र बनानेका ईसाई बने वहांके ग्रामीणोंने विरोध किया है ।
4. इस्लामी आक्रमणोंके समय प्राणभयसे अथवा धनके लोभसे धर्मांतरण करनेवाले धर्मभ्रष्ट हिंदुओंने ही आगे कट्टरतापूर्वक हिंदुओंका नरसंहार किया और असंख्य हिंदुओंको मुसलमान बनाया । अलाउद्दीन खिलजीका सेनापति मलिक कपूर, जहांगीरका सेनापति महाबत खां, फिरोजशाहका वजीर मकबूल खां, अहमदाबादका सुलतान मुजफ्फरशाह और बंगालका काला पहाड मूलतः हिंदु थे । उन्होंने मुसलमान बननेके पश्चात् हिंदु धर्मपर कठोर आघात और हिंदुओंपर निर्मम अत्याचार किए ।
5. ‘मोहनदास गांधीके पुत्र हरिलालने मुसलमान बननेके पश्चात् अनेक हिंदुओंको मुसलमान बनाया । उसने यह प्रतिज्ञा की थी, ‘पिता मोहनदास और मां कस्तूरबाको भी मुसलमान बनाऊंगा ।’
6. इस्लामी आक्रमणकारियोंकी मार-काटमें अधिकांश कश्मीर घाटी हिन्दुओं से मुसलमान धर्मांतरित हुई । इन धर्मांतरित मुसलमानोंकी आगामी पीढियोंने वर्ष 1989 में हिंदुओंको चेतावनी दी, ‘धर्मांतरित हों अथवा कश्मीर छोडो ।’ फलस्वरूप साढेचार लाख हिंदुओंने कश्मीर छोडा, तथा 1 लाख हिंदु जिहादियोंद्वारा मारे गए । आज कश्मीरमें हिंदु पूर्णतः समाप्त होनेके मार्गपर हैं ।
*हिंदुओंका वंशनाश होनेका संकट* !
‘हिंदुओंका धर्मांतरण इसी गति से चलता रहा, तो जिस प्रकार 100 वर्षोंके पश्चात् आज हम कहते हैं, ‘किसी काल में पारसी पंथ था’, उसी प्रकार यह भी कहना पडेगा, ‘हिंदु धर्म था’; क्योंकि धर्मपरिवर्तनके कारण देशमें जब हिंदु अल्पसंख्यक हो जाएंगे, उस समय उन्हें ‘काफिर’ कहकर मार डाला जाएगा ।’ – डॉ. जयंत आठवले, संस्थापक, सनातन संस्था.
*वैश्विक अशांति*
1. ‘अनेक प्रकारके संघर्ष, जिनसे हम बच सकते हैं, धर्म-परिवर्तनके कारण ही उत्पन्न होते हैं ।’ – गांधीजी
2. ‘धर्म-परिवर्तन ही विश्वमें संघर्षका मूल कारण है । यदि विश्वमें धर्म-परिवर्तन न हो, तो निश्चित ही संघर्ष भी नहीं होगा ।’
– श्री. एम्.एस्.एन्. मेनन
3. ‘मध्ययुगके अनेक युद्ध धर्म-परिवर्तनके कारण ही हुए हैं ।’ – (पत्रिका ‘हिन्दू-जागृति से संस्कृति रक्षा’)
4. ‘विश्वमें अबतक हुए युद्धोंमें जितना रक्तपात नहीं हुआ होगा, उससे कहीं अधिक रक्तपात ईसाई और मुसलमान इन दो धर्मियोंद्वारा किए गए धर्म-परिवर्तनके कारण हुआ ।’ – श्री. अरविंद विठ्ठल कुळकर्णी, ज्येष्ठ पत्रकार, मुंबई. स्त्रोत : हिंदु जनजागृति समिती
भारत में शीघ्र ही धर्मपरिवर्तन रोकना होगा नही तो बाद में बहुत पछताना पड़ेगा ।
🚩Official Azaad Bharat Links:👇🏻
🔺Youtube : https://goo.gl/XU8FPk
🔺 Twitter : https://goo.gl/kfprSt
🔺 Instagram : https://goo.gl/JyyHmf
🔺Google+ : https://goo.gl/Nqo5IX
🔺 Word Press : https://goo.gl/ayGpTG
🔺Pinterest : https://goo.gl/o4z4BJ
   🚩🇮🇳🚩 आज़ाद भारत🚩🇮🇳🚩