पुलिस की हिन्दुओं पर बढ़ती बर्बरता

🚩आखिर #पुलिस #हिन्दुओं पर ही क्यों बलशाली होती है???

🚩भारत में अल्पसंख्यक #मुस्लिम से तो पुलिस डरकर कोई कार्यवाही नही करती है पर #सहिष्णु बहुसंख्यक हिदुओं पर अत्याचार क्यों कर रही है???
🚩#सरकार बदली पर हिन्दूओं पर अत्याचार नहीं रुके ।
🚩देश में ऐसा लगता है कि अभी भी हिंदुओं के लिए #अंग्रेज_शासन ही है।
🚩#गुरुपूर्णिमा के निमित्त 21 जुलाई 2016 को अपने गुरुजी ( संत #आशारामजी बापू ) के दर्शन के लिए #जोधपुर में #देश-विदेश से पहुचें लाखों #श्रद्धालु भक्तों पर #जोधपुर_पुलिस ने आतंक मचाया ।
🚩जोधपुर #कारागृह से लेकर #कोर्ट परिसर तक संत आसारामजी बापू के लाखों भक्त जो कि देश के कोने-कोने और विदेश से आये हुये थे गुरुपूर्णिमा के निमित्त, #दर्शन की आश में रोड के किनारे संत आसारामजी बापू के आने का शांति से इन्तजार कर रहे थे ।
🚩लेकिन हमेशा की तरह हिंदुओं पर लाठी चार्ज होता है वैसे ही भोले-भाले भक्तों को पुलिस द्वारा मार-मार कर भगाया गया तथा उन्हें पुलिस वाहन में बैठाकर कोर्ट परिसर से कई किलोमीटर दूर जंगल में छोड़ दिया गया जहाँ से वापस आने का कोई भी साधन नहीं मिलता था ।
Jago Hindustani – Brutality Of Police
🚩इसके अलावा भक्तों के वाहन जप्त कर लिए गये और बिना किसी अपराध के उनके वाहनों का चालान काट दिया गया ।
🚩रस्ते में चौराहे-चौराहे पर जहाँ जहाँ से भी भक्त जिन गाड़ियों से आते थे उन गाड़ियों से भक्तों को उतार दिया जाता था । तथा किसी भी गाड़ी (बस, आटो, टैक्सी) में बैठने नहीं दिया जाता था । तथा गाड़ी वालों को धमकी दी जाती थी कि अगर गाड़ी में बैठाया गया तो गाड़ी को सील कर दिया जायेगा ।
🚩जोधपुर सूर्य नगरी की कड़क धूप, हाथों में लगेज, साथ में छोटे बच्चे ऐसी विपरीत परिस्थिति में भोले-भाले भक्तों को कई किलो मीटर तक पैदल चलना पड़ा।
🚩हद हो गई पुलिस के इस क्रूरता पूर्ण कृत्य पर । निर्दयता की भी सीमा होती है । एक तो पहले से ही संत आसारामजी बापू के ऊपर किये जा रहे अत्याचार कम नहीं हो रहे हैं तीन साल से बिना सबूत जेल में रखा गया है जोकि अभीतक एक भी आरोप सिद्ध नहीं  हुआ है वहीं दूसरी ओर उनके निर्दोष भक्तों के ऊपर अंग्रेजो के शासन के समय जैसा अत्याचार किया जाता था वही आज भक्तों के साथ किया जा रहा है ।
🚩भारत में रहने वाले #भारतीय #संस्कृति के आधार स्तम्भ #संतो के प्रति #आस्था रखने वालों पर इतना जुल्म  ??
🚩कहाँ गई मानवता ?
क्या भारत के #कानून में यही लिखा है कि निर्दोष, निहत्थे,भोले-भाले हिंदुओं जो कि अपने ह्रदय में अपने गुरु के प्रति आस्था रखते हों और उनके दर्शन के लिए खड़े हों तो उनपर लाठियां बरसाओ, उनको हवालात में डाल दो ।
🚩पुलिस की निर्दोष #हिन्दू भक्तों के ऊपर क्रूरता पूर्ण बर्बरता न्यायोचित नहीं है । #कानून व्यवस्था और #सरकार पुलिस की इस निर्दयता पूर्ण कृत्य पर ध्यान दे । तथा करोडों भक्तो की श्रद्धा को देखते हुए उन्हें उनके गुरु के दर्शन करने देने में सहयोग प्रदान अवश्य करें ।
🙏🏻जय हिंद
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s