डॉक्टरों के काले कारनामे

डॉक्टरों के काले कारनामे

🚩#डॉक्टरों के काले कारनामे…
💥‘बिना बताए #डॉक्टर ने #बच्चेदानी निकाल ली’
💥रोहतक के #कलानौर इलाक़े में बिस्तर पर लेटी 36 वर्षीय गीता बताती हैं, “डॉक्टर ने कहा, छोटा सा प्रोसीजर है, जल्द ही तू भागती फिरेगी । सात जुलाई 2008 को मेरा ऑपरेशन हुआ । #ऑपरेशन के बाद मेरे पैरों तले ज़मीन खिसक गई जब मुझे पता चला कि उन्होंने बिना बताए दोनों अंडाशय और बच्चेदानी निकाल ली ।” गीता आज तक सदमें में हैं ।
💥उनके पति ने उनको छोड़ दिया।  इलाज में सारी ज़मीन-जायदाद बिक गई ।
💥पास ही उनकी 14 साल की बेटी पुराने #लैपटॉप पर मां के पुराने #म्यूज़िक वीडियो, तस्वीरें देख रही थी । तस्वीरों में #गीता गुरुदास मान, हंसराज हंस के साथ नज़र आ रही थीं ।
Doctors Black Exploits- Jago Hindustani
💥वो ज़माना था जब #गीता दिन के दो लाख तक कमा लेती थीं । एक दिन वो ‘#लेडीज़ प्राब्लम’ के इलाज के लिए लुधियाना के डॉक्टर अमित सोफ़ट और डॉक्टर रमा सोफ़ट के क्लीनिक पहुंचीं जहां ये घटना हुई ।
💥वर्ष 2013 के एक शोध के मुताबिक़ दुनिया में हर साल करीब 4.3 करोड़ लोग असुरक्षित चिकित्सकीय देखरेख के कारण दुर्घटना का शिकार होते हैं । रिपोर्ट में पहली बार ये पता लगाने की कोशिश की गई थी कि चिकित्सीय भूल के कारण हुई दुर्घटना में कितने साल की मानवीय ज़िंदगी का नुकसान होता है । #DoctorsBlackExploits
💥लेखक #आशीष झा ने बताया कि भारत में हर साल क़रीब 30 लाख साल की स्वस्थ ज़िंदगी #मेडिकल चूक का शिकार होती है ।
💥1998 में #सुप्रीम कोर्ट ने डॉक्टर की लापरवाही मामले में कोलकाता के एक #अस्पताल को आदेश दिया था कि वो कुणाल साहा को एक मिलियन डॉलर्स का जुर्माना अदा करें । कुणाल की पत्नी अनुराधा की मृत्यु गुर्द की ख़राबी के कारण हुई थी । भारत में किसी अस्पताल के खिलाफ़ ये सबसे बड़ा जुर्माना है, लेकिन अभी भी शिकायतें कई हैं । लेकिन #सरकार सुनती नही है ।
💥#स्वास्थ्य मामलों पर काम करने वाले प्रवीण डांग के मुताबिक़ हालांकि डॉक्टरों के खिलाफ़ शिकायतों पर कार्रवाई के लिए नियामक संस्था है, “डॉक्टर दूसरे डॉक्टरों पर कार्रवाई नहीं करना चाहते ।”#DoctorsBlackExploits
💥प्रवीन डांग कहते हैं, “जब मैंने पहली बार एक डॉक्टर की शिकायत के लिए मेडिकल काउंसिल ऑफ़ इंडिया को पत्र भेजा था तो उसका 15 दिनों में जवाब आ गया था । आज उस बात को तीन साल हो गए हैं । आज तक राज्य काउंसिल जांच पूरी नहीं कर पाई है।
💥#भारत में #सरकारी स्वास्थ्य सुविधाएं खस्ताहाल होने के कारण निजी #अस्पतालों का 80 प्रतिशत बाज़ार पर कब्ज़ा है । आरोप लग रहे हैं कि कानूनों के कमज़ोर क्रियान्वयन के कारण निजी अस्पतालों के जवाबदेही की भारी कमी है ।
💥डॉक्टर अरुण गदरे और डॉक्टर अभय शुक्ला ने अपनी किताब ‘#डिसेंटिंग डायग्नोसिस’ में निजी #अस्पतालों के #भ्रष्टाचार का ज़िक्र किया है ।#DoctorsBlackExploits
💥निजी अस्पतालों में पैसे हड़पने के लिए लोगों को बीमारी के नाम पर डराया जाता है, उन्हें वो टेस्ट करने को कहा जाता है या फिर उन पर वो सर्जरी और ऑपरेशन किए जाते हैं जिसकी कोई ज़रूरत नहीं होती. साथ ही उन्होंने डॉक्टरी पेशे में कमीशन के चलन की चर्चा की है, यानि डॉक्टरों की दवा कंपनियों या डायग्नोस्टिक सेंटरों के बीच कमीशन को लेकर सांठगांठ ।
💥मार्च 2016 में अमरीका की ‘#प्रोपब्लिका’ में छपी रिपोर्ट के अनुसार जिन डॉक्टरों को मेडिकल उद्योग से धन मिलता है वो कंपनी के ब्रैंड के पक्ष में दवाइयां लिखते हैं । जिन पांच को मेडिकल कंपनियों की ओर से सबसे ज़्यादा धन मिला, उनमें से दो भारतीय मूल के थे।
💥उधर डॉक्टर और #वकील #एमसी गुप्ता डॉक्टरी पेशे में #भ्रष्टाचार का कारण महंगी पढ़ाई और सरकार के नीम-हकीम के खिलाफ़ कार्रवाई नहीं करने को ज़िम्मेदार ठहराते हैं । वो कहते हैं, “भारत जहां स्वास्थ्य पर जीडीपी का मात्र 1.3 प्रतिशत खर्च होता है, वहां ऐसी हालत के लिए सरकार ज़िम्मेदार है ।”
💥नाइजीरिया की चिनेये का मामला है । अगस्त 2015 में एक दुर्घटना में चोटिल हुए पांव का इलाज करवाने आईं चिनेये को दिल्ली के फ़ोर्टिस में दाख़िल किया गया । अक्टूबर में उनकी मृत्यु हो गई ।
💥चिनेये को लेकर #सोशल मीडिया, ब्लॉग आदि में लिखा गया है लेकिन चिनेये के परिवार के मुताबिक़ उन्हें अस्पताल ने नहीं बताया कि चिनेये की मौत कैसे हुई । #ट्विटर पर @Justice4Chineye नाम का एक हैंडल भी है ।
💥#कनाडा से बात करते हुए चिनेये की बहन #एनकीरू ऑनवुगालू ने आरोप लगाया कि चिनेये की मृत्यु मेडिकल लापरवाही का मामला है।#DoctorsBlackExploits
💥वो कहती हैं, “मैं किसी को भी भारत जाने की सलाह नहीं दूंगी. अस्पताल कोई जवाब नहीं दे रहा है जो निर्दयता की इंतहा है । अगर अस्पताल का दावा है कि उनके पास रिपोर्ट नहीं है और सिर्फ़ #पुलिस के पास ये रिपोर्ट है, अस्पताल को मौत के कारणों का कैसे पता चलेगा? वो भविष्य में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए कैसे कदम उठाएंगे?”
💥#आयुर्वेद की डॉक्टर #इंदु शर्मा यही कहती हैं ।
💥वर्ष 2015 में #नेशनल कंज्यूमर डिस्प्यूट्स रिड्रसेल कमीशन (#एनसीडीआरआसी) ने #शर्मा दंपत्ति को कथित डॉक्टरी चूक के लिए एक करोड़ का हर्जाना दिया ।#DoctorsBlackExploits
💥#इंदु ने #दिल्ली के #इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल पर आरोप लगाया था कि वहां कथित डॉक्टरी चूक के कारण 1999 में उनके बच्ची #मानसिक विकलांगता का शिकार हुई ।अस्पताल ने फ़ैसले के खिलाफ़ #उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी है।
💥इंदु कहती हैं, “मदद के अभाव में लोग अदालत जाने का सोच भी नहीं पाते । मैंने अपना पेशा छोड़ दिया । इस केस में मेरी पूरी ज़िंदगी बीत गई है ।”#DoctorsBlackExploits
💥इंदु शर्मा के वकील और मेदांता अस्पताल से जुड़े मधुकर पांडे कहते हैं कि डॉक्टरी चूक को साबित करना सबसे मुश्किल है और #सुप्रीम कोर्ट ने इसके लिए मेडिकल बोर्ड के गठन की बात कही है ।
💥वकील महेंद्र कुमार बाजपेई को चिंता है कि मरीजो से डॉक्टर पैसा हड़पने और लापरवाही के कारण मरीज़ और डॉक्टर के बीच विश्वास तेज़ी से घट रहा है।#DoctorsBlackExploits
💥तो अपने देखा डॉक्टर पैसो के लिए कितने हद तक गिर सकते है । अतः आप जहाँ तक हो सके #ऋषि #मुनियों द्वारा प्रेरित योगा , #प्राणायम करके #स्वस्थ रहे और कोई बीमारी हो तो #आयुर्वेदिक इलाज करवाये नही तो डॉक्टर आपकी भी जिंदगी खराब कर सकते है ।
🙏🏻जय हिन्द!!!
🚩Official Jago hindustani
Visit  👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼👇🏼
💥Youtube – https://goo.gl/J1kJCp
💥WordPress – https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot –  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🇳🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🇮🇳🚩
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s