तंबाकू सेवन और धूम्रपान से हर 6 सेकंड में एक व्यक्ति की मौत

🚩तंबाकू सेवन और #धूम्रपान से हर 6 सैकंड में एक व्यक्ति की #मौत….
💥#विश्व_स्वास्थ्य_संगठन ने कहा कि ‘‘तंबाकू का सेवन दक्षिण-पूर्व एशिया क्षेत्र (11 देशों)-(जिसमें भारत शामिल है) में करीब 24.6 करोड़ लोग #धूम्रपान करते हैं और 29 करोड़ से थोड़े कम इसका #धुआंरहित स्वरूप में सेवन करते हैं।
💥उन्होंने कहा, ‘‘#तंबाकू से हर साल क्षेत्र में 13 लाख लोगों की मौत हो जाती है, जो 150 मौत प्रति घंटे के बराबर है ।’’
💥#WHO के मुताबिक तंबाकू सेवन और #धूम्रपान से दुनिया में हर 6 सेकेंड में एक व्यक्ति की मौत होती है ।
💥बीसवीं सदी के अंत तक #सिगरेट पीने के कारण 6 करोड़ 20 लाख लोग अपनी जान से हाथ धो बैठे हैं।
💥विकसित देशों में हर छठी मौत सिगरेट के कारण होती है। महिलाओं में सिगरेट पीने के बढ़ते चलन के कारण यह #आँकड़ा और बढ़ा है ।
💥तम्बाकू से होने वाले दुष्परिणाम
#निकोटीन, टार और #कार्बन-मोनोऑक्साइड जैसे हानिकारक कैमिकल से युक्त तंबाकू जितना आपके #फेफड़ों और चेहरे को प्रभावित करता है  उतना ही हानिकारक आपके नाजुक दिल के लिए भी होता है ।
💥तंबाकू का सेवन करने वाले के मुँह से बदबू तो आती है, लेकिन उसके साथ ही उसको मुंह और गले में भयानक #कैंसर की भी संभावना होती है । तंबाकू में मौजूद निकोटीन पूरे शरीर में रक्त की पूर्ति करने वाली महाधमनी को प्रभावित करता है। यह #फेफड़ों को भी काफी हद तक प्रभावित करता है जिससे स्वांस संबंधी समस्याएं आम हो जाती हैं।
💥तंबाकू के नियमित सेवन से सिर दर्द और चक्कर आना जैसी आम शिकायत भी हो सकती है। इतना ही नहीं तंबाकू आपकी रक्त वाहिनिकाओं को प्रभावित कर हृदय संबंधी गंभीर बीमारियों को भी जन्म दे देता है। यह हमारे पाचन #तंत्र को खराब करने के साथ-साथ हम पर #मनोवैज्ञानिक प्रभाव भी डालता है। तम्बाकू से अनेक भयंकर बीमारियां होती है ।
💥धूम्रपान से #बच्चों पर भयंकर असर…
जिन घरों में  धूम्रपान  आम होता है, उन घरों के बच्चे न चाहते हुए भी जन्म से ही ‘धूम्रपान’ की ज्यादतियों के शिकार हो जाते हैं।  कोई वयस्क एक मिनट में लगभग 16 बार #साँस लेता है, जबकि बच्चों में इसकी गति अधिक होती है।
💥पाँच साल का एक सामान्य बच्चा एक मिनट में 20 बार साँस लेता है। किन्हीं विशेष परिस्थितियों में यह गति बढ़कर 60 बार प्रति मिनट तक हो सकती है।
💥जाहिर है कि जिन घरों में  सिगरेट  या #बीड़ी का धुआँ रह-रहकर उठता है उन घरों के बच्चे तंबाकू के धुएँ में ही साँस लेते हुए बड़े होते हैं।
💥चूँकि वे वयस्कों से अधिक तेज गति से साँस लेते हैं इसलिए उनके फेफड़ों में भी वयस्कों के मुकाबले अधिक धुआँ जाता है। धुएँ के साथ जहरीले पदार्थ भी उसी मात्रा में दाखिल होते हैं।
💥धूम्रपान का धुआँ बच्चों में #निमोनिया या पल्मोनरी #ब्रोंकाइटिस अर्थात साँस के साथ उठने वाली #खाँसी की समस्या पैदा कर सकता है।बच्चों के #मध्यकर्ण में अधिक पानी भर सकता है, उन्हें सुनने की अथवा वाचा की समस्या पैदा हो सकती है।
💥धूम्रपान के धुएँ में पलने वाले बच्चों के फेफड़े कम क्षमता से काम करते हैं। इसी वजह से उनकी रोग प्रतिरोधक प्रणाली भी कमजोर होती है। वे युवावस्था में दूसरों के मुकाबले कम तगड़े होते हैं।
💥बच्चों का सामान्य विकास अवरुद्ध हो जाता है। उनका वजन और ऊँचाई दूसरों के मुकाबले कम होती है। जिन्होंने जीवन में कभी भी धूम्रपान नहीं किया हो उन्हें #पेसिव #स्मोकिंग के कारण फेफड़ों के कैंसर होने का 20-30 प्रतिशत जोखिम होता है।
💥धूम्रपान छोड़ने के अनेक फायदे…
1. धूम्रपान बंद करने के 12 मिनट के भीतर ही आपकी उच्च हृदय गति (हाई बी.पी) और रक्त चाप में कमी(लो बी.पी) दिखने लगेगी। 12 घंटे बाद अपने खून में मौजूद कार्बन #मोनोऑक्साइड का स्तर घटकर सामान्य पर पहुंच जाएगा। वहीं दो से 12 हफ्तों में आपके शरीर के भीतर खून के प्रवाह और फेफड़ों की क्षमता बढ़ जाएगी।
💥2. धूम्रपान छोड़े हुए एक साल बीतते-बीतते आप में दिल से जुड़ी बीमारियां होने का खतरा धूम्रपान करने वालों की तुलना में आधा तक रह जाएगा। वहीं पांच साल तक पहुंचने पर #मस्तिष्काघात का खतरा नॉन स्मोकर के स्तर पर पहुंच जाएगा।
💥3. दस साल तक अपने-आपको धूम्रपान से दूर रखने पर आप में फेफड़ों का कैंसर होने का खतरा धूम्रपान करने वाले की तुलना में आधे पर पहुंच जाएगा। वहीं मुंह, गले, #मूत्राशय, गर्भाशय और अगन्याशय में कैंसर का खतरा भी कम हो जाएगा ।
💥4. धूमपान छोड़ने पर आपकी जीवन प्रत्याशा में भी इजाफा होगा। अगर आप 30 वर्ष की उम्र से पहले ही धूम्रपान की लत से तौबा कर लेते हैं तो धूम्रपान करने वालों की तुलना में आपकी जीवन प्रत्याशा करीब 10 साल तक बढ़ जाएगी। लेकिन धूम्रपान छोड़ने में देर करने से आपकी जिंदगी भी छोटी होती चली जाएगी।
💥5. धूम्रपान छोड़ने से आप में #नपुंसकता की आशंका कम होती है। इसके अलावा महिलाओं में गर्भधारण में कठिनाई, #गर्भपात, समय से पहले जन्म या जन्म के समय बच्चे का वजन बेहद कम होने जैसी समस्याएं भी कम होती है।
💥6. आपके धूम्रपान से तौबा करने पर आपके बच्चों में भी सैकंड हैंड स्मोक से होने वाली स्वास संबंधी बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।
💥7.धूम्रपान छोड़ना आपकी जेब के लिए भी फायदेमंद हैं। मान लें अगर आप औसतन प्रतिदिन 10 सिगरेट पीते हैं और एक सिगरेट की कीमत 10 रुपये है, तो आप साल भर में ही 36,500 रुपये बस धूम्रपान में ही फूंक डालते हैं। इन पैसों से आप कुछ तो बेहतर काम कर ही सकते हैं।
💥#व्यसन छोड़ने के उपाय
अजवाइन साफ कर इसे नींबू के रस और काले नमक में दो दिन तक भीगने के लिए छोड़ दें, फिर इसे सुखा लें और इसके बाद इसको #मुंह में घंटो रखकर तंबाकू को खाने जैसी अनुभूति प्राप्त कर सकते हैं ।
अगर आपको तंबाकू खाने की तलब काफी ज्यादा है तो आप बारीक सौंफ के साथ मिश्री के दाने मिलाकर धीरे धीरे चूस सकते हैं ।
💥अधिक जानकारी के लिए देखें
http://tinyurl.com/oonoozx
🚩Official Jago hindustani Visit
👇👇👇👇👇
💥Youtube – https://goo.gl/J1kJCp
💥WordPress – https://goo.gl/NAZMBS
💥Blogspot –  http://goo.gl/1L9tH1
🚩🇮🚩जागो हिन्दुस्तानी🚩🚩
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s