Press Conference With – Kailash Vijay Vergiya

��#ABP के #प्रेस_कांफ्रेंस में #रिपोर्टर #दिवांग के साथ #कैलाश_विजयवर्गीय जी की बात-चीत के कुछ विशेष अंश…!!!

��दिवांग – कैलाश जी,आपका स्वागत है । आप  एक बार बहुत गरमागरमी बहस में आपको देखा है #टेलीवीजन पर, वो भी #संत #आसारामजी #बापू के मुद्दे को लेकर।
आप कहतें हैं कि यह #राजनीतिक मुद्दा है?
��कैलाश  विजयवर्गीय जी – देखिये, जहाँ तक मैंने संत आसारामजी बापू का जीवन देखा है , तो वो एक $पवित्र #संत का जीवन है जिन्होंने देश और #संस्कृति के लिए बहुत बड़ा कार्य किया हैं।
��मेरा आज भी ऐसा मानना है क़ि संत आसारामजी बापू कभी ऐसा कर ही नहीं सकतें और…
�� #FIR पढ़कर तो कोई भी समझदार, बुद्धिमान व्यक्ति यकीन ही नही कर सकता है क़ि लड़की के साथ कुछ गलत हुआ भी है।
��आप स्वयं देखिये #घटना कहीं की है ,रिपोर्ट कहीं जाकर होती है ।
घटना के 5 दिन बाद #दिल्ली में जाकर रात को #2:45 बजे FIR दर्ज क्यों करायी जाती है।
��और अभी तो ढाई साल हो गए है फिर भी एक आरोप तक साबित नही कर पाएं। इससे ज्यादा एक निर्दोष #संत की निर्दोषता का प्रमाण और क्या है।
��वो चाहते तो करोड़ों के जन-समूह का उपयोग करके देश की अर्थव्यवस्था को उथल-पुथल कर सकते थे लेकिन चुपचाप सब सहन कर रहे है। सच्चे संत के संतत्व की और क्या निशानी हो सकती है। इसे ज्यादा मुझे और उनके लिए कुछ नही कहना है।
��आज समाज में न जाने कितने निर्दोष कानून की चपेट में आकर कष्ट सह रहे है। आज कानून में संशोधन की जरूरत है जिससे निर्दोषों के साथ न्याय हो सकें और सच्चे मुजरिमों को दण्डित किया जा सके।
��जागो भारतीय��
��देखिये वीडियो����
��
��Official Jago hindustani
Visit ��������������������
��Youtube – https://goo.gl/J1kJCp
��WordPress – https://goo.gl/NAZMBS
��Blogspot –  http://goo.gl/1L9tH1
��Twitter – https://goo.gl/iGvUR0
��FB page – https://goo.gl/02OW8R
��������जागो हिन्दुस्तानी��������
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s