ड़ॉ.रमन सिंह : 14 फरवरी को छत्‍तीसगढ़ के सभी स्‍कूलों में मातृ-पितृ दिवस मनाने का फैसला

��#मुख्यमंत्री #ड़ॉ.रमन सिंह ने #वैलेंटाइन_डे’ यानि #14_फरवरी को छत्‍तीसगढ़ के सभी #स्‍कूलों में #मातृ-पितृ दिवस मनाने का फैसला किया है । इसके लिए #सरकार ने सभी शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों व #कालेजों में 14 फ़रवरी को ‘मातृ-पितृ दिवस’ मनाने के लिए परिपत्र जारी कर दिए है।
��गौरतलब है क़ि यह विश्वव्यापी अभियान #हिन्दू #संस्कृति #रक्षक #संत #आसारामजी बापू ( #Asaram Bapu ji ) ने पिछले कई वर्षों से चलाया है। जिसका अनुसरण किया #छत्‍तीसगढ़ में मुख्यमंत्री ड़ॉ. रमन सिंह सरकार ने।
��छत्‍तीसगढ़ सरकार के इस फैसले का #हिन्दू_संगठनों एवं #हिंदू_महासभा के #राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष चंद्र प्रकाश कौशिक ने स्वागत किया तथा अपने एक वक्तव्य में उन्होंने कहा क़ि, ” वैलेंटाइन-डे #पश्‍चिम सभ्‍यता की देन है। वहाँ पर ये दिन प्रेम के इजहार के रूप में मनाते है। भारत में इसे मनाने का कोई औचित्‍य नहीं है । हमारे देश में साल के 365 दिन #प्रेम के लिए होते है । ऐसे में भला 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाने का क्‍या औचित्‍य है । ”
��उल्लेखनीय है कि हिंदू महासभा सहित अन्‍य कई हिंदू संगठन पिछले कई सालों से पश्चिमी सभ्यता के त्यौहार वैलेंटाइन डे का #विरोध करते आये हैं । इसके लिए वे हर साल प्रेम के नाम पर #अश्लीलता फ़ैलाने वाले जोड़ो का पार्कों से लेकर रेस्‍टोरेंट तक विरोध करते रहे हैं। #भारत में ‘वैलेंटाइन डे’ का प्रचलन #बॉलीवुड #फिल्मों से बढ़ा। जोकि #देश के लिए घातक सिद्ध हो रहा है।
��धन्यवाद है छत्तीसगढ़ सरकार को। जिन्होंने #सनातन संस्कृति के लिए इतना बड़ा कदम उठाया। देश के सभी मुख्यमंत्रियों को उनके उठाये क़दम का अनुसरण करना चाहिए।
��“वेलेंटाइन डे मनाकर भारत भी कहीं इसी दिशा में तो नहीं जा रहा….???
�� #अमेरिका में 7% बच्चे 13 वर्ष की उम्र से पहले ही यौनसंबंध बना लेते हैं ।  85 % लड़के और 77% #लड़कियाँ 19 वर्ष के पहले ही यौन संबंध बना लेते हैं |
इससे जो समस्याएं पैदा हुई, उनको मिटाने के लिए वहाँ की सरकार को #करोड़ो रुपये खर्च करके भी सफलता नहीं मिल रही है।
��पाश्चात्य #सभ्यता की गन्दगी से #युवावर्ग का #चारित्रिक पतन होते देख लोकहितकारी पूज्य आसारामजी बापू का ह्रदय विह्वल हो उठा और उन्होंने वैलेंटाइन डे की जगह “मातृ-पितृ पूजन दिवस” का आवाहन कर समाज को दी एक अनोखी दिशा।
��संत आसारामजी बापू की प्रेरणा से पिछले आठ वर्षों से देश-विदेश में करोड़ो लोग “वेलेंटाइन डे” मनाने के बदले “मातृ-पितृ पूजन दिवस” मना रहे हैं। इस विश्वव्यापी अभियान से लाखों युवावर्ग पतन से बचे हैं एवं उनके जीवन में संयम व सदाचार के पुष्प खिले हैं ।
��हम सबका भी फ़र्ज़ बनता है क़ि पाश्चात्य संस्कृति का अनुसरण न करके अपनी महान संस्कृति की महानता समझे और दूसरों तक भी अपनी संस्कृति की सुवास पहुचाएं तथा उन्हें भी वैंलेंटाइन डे के दिन ‘मातृ-पितृ दिवस’ मनाने की सलाह दें।
��वैलेंटाइन-डे की गन्दगी से युवावर्ग बचाये हम।
मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाकर, सनातन संस्कृति महकाए हम।।
��जय हिन्द��
��Official Jago hindustani Visit
��������������������
��WordPress – https://goo.gl/NAZMBS
��Blogspot –  http://goo.gl/1L9tH1
���� #जागो_हिन्दुस्तानी����
Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s